Stock market में इन्वेस्ट कैसे करे? How to invest in the stock market? 10 secret tips 

स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट कैसे करें?– दोस्तों अगर आप भी स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं मगर आपको पता नहीं कि “स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट कैसे करें” तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं क्योंकि यहां पर हम आपको स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट कैसे किया जाता है उसके बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं| 

 दोस्तों जब भी हम स्टॉक मार्केट के बारे में बात करते हैं तो कुछ लोगों को ऐसा लगता है, जैसे स्टॉक मार्केट मतलब कि जुआ लेकिन हम आपको बता दें स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट करना बिल्कुल सही है” बस आपको स्टॉक मार्केट के बारे में इन्वेस्टमेंट से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त होनी चाहिए।

Stock market में इन्वेस्ट कैसे करे?

 जितने भी लोग स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट करने को एक जुए की तरह मानते हैं उन्हें या तो स्टॉक मार्केट के बारे में पूरी जानकारी पता नहीं होती है या फिर वह अपनी गलती की वजह से स्टॉक मार्केट में अपना खुद का नुकसान कर लिया होगा परंतु जो भी व्यक्ति स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट अच्छी जानकारी एवं सही प्रकार से करता है उन्हें स्टॉक मार्केट में कभी नुकसान नहीं होता है.

 अगर आप भी स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करना चाहते हैं और स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करने का बिल्कुल सही तरीका जानना चाहते हैं तो इस लेख को पूरा पढ़ लीजिए क्योंकि यहां पर मैं आपको “स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट कैसे किया जाता है” यहां पर  “स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करने के सबसे सही और आसान तरीका” बताऊंगा।

स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट कैसे करें?

दोस्तों यहां पर मैं आपको 5 स्टेट में स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट कैसे करें की जानकारी प्रदान करूंगा आप पांचों स्टाफ को पढ़िए और समझ लीजिए इन्हीं पांचों तरीके से आप आसानी से और बिल्कुल सही तरह से स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं और अच्छा खासा मुनाफा कमा सकते हैं.

 अगर आपको पता नहीं कि स्टॉक मार्केट क्या है तो सबसे पहले स्टॉक मार्केट के बारे में जानने उसके बाद ही स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट कीजिएगा यहां पर मैंने पहले आर्टिकल में स्टॉक मार्केट क्या है, बता दिया है तो यहां पर मैं आपको स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करने के बारे में बताने वाला।

also read-:

Top 100 घर बैठे ऑनलाइन पैसा कमाने का तरीका।

Network marketing kya hai, और कैसे शुरू करें ? |

(15+) online Paisa kamane wala app in 2022

 यहां पर निम्नलिखित रुप में स्टॉक मार्केट में निवेश करने के तरीके बताए गए हैं। 

1. अपना ट्रेडिंग अकाउंट अथवा डीमेट अकाउंट खोलें

  आपको स्टॉक मार्केट में किसी भी कंपनी के  शेयर को खरीदने के लिए ट्रेडिंग अकाउंट की आवश्यकता पड़ती है और उस स्टॉक को जमा रखने के लिए डिमैट अकाउंट की आवश्यकता पड़ती है। 

 डीमेट अकाउंट खोलने के लिए मुख्य रूप से यह 3  डॉक्यूमेंट की जरूरत होती है। 

  1.  पैन कार्ड
  2.  आधार कार्ड
  3. सेविंग अकाउंट

आप डिमैट अकाउंट खोलने के लिए किसी भी एप्लीकेशन का प्रयोग कर सकते हैं, अगर आप फ्री में डिमैट अकाउंट खोलना चाहते हैं तो मैं आपको Grow or Upstox को  Recomandent करूंगा।

2. इन्वेस्ट करने से पहले रिसर्च करें

 आप जिस भी कंपनी का शेयर खरीदना चाहते हैं पहले उस कंपनी के बारे में सारी इनफार्मेशन प्राप्त कर ले अब यहां पर कुछ लोगों को समझ में यह नहीं आएगा कि कंपनी के बारे में  वह क्या रिसर्च करेंगे कि उन्हें पता चलेगा कि वह कंपनी प्रॉफिट देने वाली है या फिर लॉस में जाने वाली है। 

 तो यहां पर मैं आपको किसी भी कंपनी में इन्वेस्ट करने से पहले अर्थात स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करने से पहले हम कैसे किसी कंपनी के बारे में रिसर्च करेंगे उसके बारे में छोटी सी जानकारी दे देता हूं। 

स्टॉक मार्केट के किसी भी कंपनी में इन्वेस्टमेंट से पहले यह जरूर देखें। 

  • कंपनी का कैपिटल वैल्यू क्या है?

कंपनी का कैपिटल वैल्यू का मतलब होता है कि उस कंपनी का पूरी संपत्ति कितनी है, अथवा उस कंपनी का सालाना टर्नओवर क्या है मतलब कि वह कंपनी कितने ज्यादा बिजनेस करती है इन सभी बातों को जोड़कर उस कंपनी का कैपिटल वैल्यू देखा जाता है। 

 यहां पर जिस कंपनी का कैपिटल वैल्यू इतना ज्यादा होगा वह कंपनी उतना ज्यादा अच्छी होगी।

जैसे कि  उदाहरण के तौर पर टाटा मोटर्स की मार्केट कैपिटल वैल्यू है ,इसका मतलब है कि कंपनी की कुल संपत्ति और प्रॉफिट प्रोडक्ट वैल्यू यह सभी चीजों को मिलाकर कंपनी की कुल संपत्ति  रुपए की है।  

  •  उस कंपनी का स्टॉक प्राइस लिमिट क्या है?

स्टॉक प्राइस लिमिट क्या है?–  दोस्तों  किसी कंपनी का स्टॉक प्राइस लिमिट का मतलब यही होता है कि  हम किसी कंपनी के शेयर प्राइस को अनुमान लगाते हैं कि यह कंपनी का शेयर की प्राइस आज इतने रुपए होगी जिसे हम टेक्निकल रिसर्च से हम अंदाजा आसानी से लगा सकते हैं। 

 उदाहरण के तौर पर-  नीचे इमेज में आप देख सकते हैं कि जहां पर टाटा मोटर्स का कल के शेयर प्राइस के आंकड़े दिए गए हैं जहां पर कल टाटा मोटर्स का शेयर प्राइस का सबसे कम कीमत और सबसे अधिक कीमत इन दोनों को स्टॉक प्राइस लिमिट कहा जाता है। 

 अर्थात किसी भी कंपनी के शेयर प्राइस की न्यूनतम और अधिकतम मूल्य को स्टॉक प्राइस लिमिट कहा जाता है। 

  • कंपनी ने पिछले 1 महीने या फिर 1 वर्षों में कितना प्रॉफिट प्राप्त किया है?

अब आप जिस कंपनी में इन्वेस्ट कर रहे हैं उसमें यह जरूर चेक करें कि पिछले  1 सप्ताह, एक महीना  और 1 वर्षों में उस कंपनी ने कितना परसेंट की प्रॉफिट प्राप्त की है। 

 आप इसे आसानी से किसी भी वेबसाइट में जाकर चेक कर सकते हैं कि पिछले दिनों में इस वेबसाइट ने प्रॉफिट प्रदान किया है या फिर लॉस प्रदान किया है। 

 आप  जब भी कंपनी में इन्वेस्ट करें तो आप उस कंपनी के प्रॉफिट का एनालिसिस लॉन्ग टर्म के आधार पर करें शॉर्ट टर्म के आधार पर अगर आप करेंगे तो यहां पर आपकी छानबीन गलत हो सकती है। 

  •  कंपनी के प्रोडक्ट या फिर सर्विस कितना पर्सेंट प्रतिवर्ष अथवा प्रतिमाह बड़ी है?

 आप जब भी किसी कंपनी के शेयर में इन्वेस्ट करें तो आप यह चेक जरूर करें कि उस कंपनी का सर्विस या फिर प्रोडक्ट की सेल है वह बढ़ रही है या नहीं अगर बढ़ रही है तो कितना परसेंट उसका ग्रोथ रेट है। 

 दोस्तों यहां पर ध्यान देने वाली बात यही है कि स्टॉक मार्केट में कुछ ऐसे कंपनी भी है जिनकी सर्विसेस और प्रोडक्ट की सेल कम होती जा रही हैं और उसके शेयर  का मूल्य लगातार बढ़ रही है ऐसे में उस कंपनी का शेयर प्राइस कभी भी नीचे गिर सकता है जिससे आपको लॉस हो सकती है। 

 इसीलिए आप जब  भी स्टॉक मार्केट के किसी भी कंपनी में इन्वेस्ट करें तो यह जरूर देखें कि उस कंपनी का सर्विस या प्रोडक्ट की सेल लगातार बढ़ रही है तभी उसमें इन्वेस्ट करें। 

  •  कंपनी कौन से एडवांस फीचर लाने वाली है?

दोस्तों आप जब भी स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करें जिस भी कंपनी में तो यह जरूर देख ले कि उस कंपनी के द्वारा भविष्य में कौन से नए कदम उठाए जाने वाले हैं, अगर वह कंपनी कोई प्रोडक्ट बनाती है तो वह आगे चलकर कौन से प्रोडक्ट बनाने वाले हैं और उस प्रोडक्ट का मार्केट की डिमांड क्या होने वाली है। 

 उदाहरण के तौर पर –  हम सभी जानते हैं कि भविष्य में इलेक्ट्रॉनिक्स  गाड़ियों की डिमांड बढ़ने वाली है, वैसे में भारत में टाटा मोटर्स इलेक्ट्रॉनिक गाड़ियों पर ज्यादा ध्यान दे रही है इसके मुताबिक टाटा मोटर्स  की भविष्य में और तेजी से बढ़ने वाला है। 

 इसी प्रकार से आप भी जिस भी कंपनी में इन्वेस्ट करने वाले हैं उस कंपनी का अगला कदम को ध्यान में रखते हुए उस कंपनी में इन्वेस्ट करें।  अगर आपको लगता है कि उस कंपनी के द्वारा भविष्य में कोई गलत कदम उठाया जाने वाला है तो आप उस कंपनी में इन्वेस्ट ना करें। 

  •  उस कंपनी का भविष्य क्या होने वाला है? 

 दोस्तों हम किसी भी कंपनी के भविष्य को देखने के लिए किसी भी कंपनी के भूतकाल और वर्तमान को देखते हैं ,इसका मतलब यही है कि जब से यह कंपनी शुरू हुई है तब से इस कंपनी का ग्रोथ कैसा रहा है। 

 कंपनी जो प्रोडक्ट बनाती है या फिर जो भी सर्विस प्रदान करती है भविष्य में उनके प्रोडक्ट या फिर सर्विस की डिमांड क्या होने वाली है इसी हिसाब से हम किसी भी कंपनी  के भविष्य में कैसा परफॉर्म करेगी उसको समझ सकते हैं। 

 उदाहरण के तौर पर-  लुमिनस , बैटरी बनाने वाली कंपनी है जो कि अपने बेहतर बैटरी बनाने के लिए जानी जाती है,  और भविष्य में हम सभी जानते हैं पेट्रोल-डीजल  खत्म हो जाएगी तब ज्यादातर लोग इलेक्ट्रॉनिक्स पर ही आश्रित होंगे जिसमें बैटरीओ की डिमांड बहुत अधिक बढ़ जाएगी। 

इस हिसाब से इस कंपनी के प्रोडक्ट भविष्य में और अधिक  डिमांड में आने वाली है, इसका मतलब हम इस कंपनी में इन्वेस्ट कर सकते हैं यह हमें प्रॉफिट जरूर देगी। 

3. कम पैसों से इन्वेस्टमेंट शुरू करें

 दोस्तों अगर आप स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करने जा रहे हैं और अभी आपकी कोई अनुभव नहीं है मतलब आप स्टॉक मार्केट में बिल्कुल new हो तो आपको बिल्कुल कम पैसों से ही इन्वेस्टमेंट शुरू करनी चाहिए। 

 क्योंकि ज्यादातर लोग शुरुआत में ही स्टॉक मार्केट में नुकसान का सामना करते हैं, और अगर आप शुरुआत में बहुत ज्यादा पैसों के साथ शुरू करेंगे तो आपको ज्यादा नुकसान हो सकता है जिससे कि आपको स्टॉक मार्केट गलत लगेगा और स्टॉक मार्केट को अब छोड़ भी सकते हो। 

 इसलिए आप स्टॉक मार्केट में बिल्कुल कम पैसों के साथ शुरुआत करें और पहले स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करने का एक अच्छा अनुभव प्राप्त करें उसके बाद आप अपने अनुभव और ज्ञान से आसानी से स्टॉक मार्केट में प्रॉफिट प्राप्त कर सकते हैं।  

4. रिस्क मैनेजमेंट 

स्टॉक मार्केट में किसी भी कंपनी के प्रॉफिट का अंदाजा आप बिल्कुल सही कभी नहीं लगा सकते हैं। 

अगर आप किसी अच्छे कंपनी के शेयर को भी खरीद लेते हैं और आपके खरीदने के बाद उस शेयर का प्राइस कम हो जाता है। 

वैसे तो स्टॉक मार्केट में यह आम बात है,  क्योंकि अच्छे से तुरंत रिकवर भी हो जाते हैं परंतु अगर वह शेयर लगातार गिर रहा है। 

 उस वक्त आपको धैर्य के साथ कुछ शेयर को होल्ड करना पड़ेगा और अपने रिस्क मैनेजमेंट से यह देखना होगा कि यह शेयर का प्राइस भविष्य में बढ़ेगा यह फिर घटेगा। 

 उसी हिसाब से आप  यह डिसीजन ले की शेयर को होल्ड करने में आपको फायदा है या फिर उसे बेचकर अपना कैपिटल प्राप्त करने में इसी हिसाब से आप खुद से डिसीजन ले। 

सबसे बेहतर यही होगा कि आप इन्वेस्टमेंट से पहले अपना स्टॉप लॉस और प्रॉफिट स्टॉप दोनों पहले डिसाइड कर ले। 

 और उसी हिसाब से शेयर को होल्ड करें और सेल करें। 

5.  अच्छे कंपनियों में इन्वेस्ट करें

दोस्तों ऊपर में ही मैंने आपको बताया था कि हम कैसे पहचान करेंगे कि कौन सी कंपनी स्टॉक मार्केट में अच्छी है और कौन सी कंपनी इन्वेस्टमेंट के लायक है जो कि आपको ज्यादा प्रॉफिट दे सके। 

 इसीलिए आप हमेशा यही प्रयास करें कि आप अच्छे से अच्छे कंपनियों में ही इन्वेस्ट करें ताकि आपको लॉस होने का खतरा बिल्कुल कम हो। 

 ध्यान देने वाली बात यहां पर यह भी है कि आप कभी भी अपने पूरे पैसे को किसी एक ही कंपनी में ना लगाएं उसे चार-पांच अच्छे-अच्छे कंपनियों में लगाएं ताकि कोई  एक कंपनी अगर खराब परफॉर्म भी करें तो भी आपको लॉस ना हो। 

 जितने भी बड़े बड़े स्टॉक मार्केट इन्वेस्टर्स है,  वह सभी इसी टेक्निक का यूज़ करते हैं वह हमेशा अपने कैपिटल अर्थात अपने पैसे को कई सारी कंपनियों में निवेश करते हैं जिससे कि उन्हें रिस्क मैनेजमेंट में बहुत मदद मिलती है। 

6. सही समय पर इन्वेस्ट करें

 दोस्तों स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट टाइमिंग बहुत मैटर करता है, अर्थात आप किसी कंपनी में कब इन्वेस्ट कर रहे हैं यह बहुत महत्वपूर्ण होती है। 

 उदाहरण के तौर पर-  अगर आप किसी अच्छी कंपनी में भी इन्वेस्ट करते हैं और उस कंपनी का शेयर प्राइस अपने अधिकतम मूल्य पर है तो यहां पर आपको कुछ कंपनी में इन्वेस्टमेंट नहीं करना है। 

 क्योंकि जब भी किसी कंपनी की शेयर प्राइस अपने अधिकतम मूल्य पर होती है इसका मतलब यही होता है कि वह अपना टारगेट प्राइस हिट कर चुका है और ज्यादा चांस होता है कि उस कंपनी के शेयर में कुछ समय के लिए गिरावट देखने को जरूर मिलने वाली है। 

किसी कंपनी में इन्वेस्टमेंट करने का सही समय –  दोस्तों जब कोई कंपनी का शेयर प्राइस अपने न्यूनतम मूल्य और अधिकतम मूल्य के बीच में हो उस वक्त इन्वेस्ट करना बिल्कुल सही माना जाता है। 

 इसीलिए जब भी आप इन्वेस्टमेंट करें तो आप कोशिश यही करें कि उस कंपनी का शेयर प्राइस जब अपने न्यूनतम मूल्य से ऊपर उठने लगे हो उस वक्त इन्वेस्ट करें,  

“इसका पता आप कंपनी के शेयर प्राइस के ग्राफ से आसानी से लगा सकते हैं कि वह कंपनी भविष्य में कैसा परफॉर्म करने वाली है जिसे हम टेक्निकल एनालिसिस भी कहते हैं। “

7. पोर्टफोलियो बनाएं

पोर्टफोलियो बनाने का मतलब यही होता है कि आप  किसी एक कंपनी के शेयर में पूरे पैसे इन्वेस्ट करने की जगह  कई सारे अलग-अलग शेयर में इन्वेस्ट करते हैं। 

उदाहरण के तौर पर-

आप एक ही कंपनी के शेयर में ₹10000 इन्वेस्ट करेंगे तो आपको दो ही रिजल्ट मिलेंगे प्रॉफिट या  नुकसान। 

वही आप ₹10000 को 5 शेयर में इन्वेस्ट करेंगे तो आपको अलग-अलग रिजल्ट मिलेंगे, प्रॉफिट होने का चांस बढ़ जाएगा। 

8. अपना खुद का व्यू बनाएं और इन्वेस्ट करें

दूसरों के कहने पर किसी कंपनी में इन्वेस्ट ना करें, इससे आपको नुकसान हो सकता है। 

 इन्वेस्टमेंट अपने दम पर करें, और इन्हें देखें-

  • खुद से रिसर्च करें। 
  • खुद से कंपनी को सेलेक्ट करें। 
  •  स्टॉक मार्केट के बेसिक को समझें। 
  • स्टॉक मार्केट इन्वेस्टमेंट से संबंधित किताबों, वीडियोस, कोर्स से सीखे। 
  •  छोटे-छोटे इन्वेस्टमेंट से अनुभव और ज्ञान प्राप्त करें। 
  • जल्दी से सीखने के लिए कोई भी स्टॉक मार्केट कोर्स को ज्वाइन कर ले। 

निष्कर्ष स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट कैसे करें-

स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट का एक बहुत ही  आसान तीन नियम है इन्हें आप जान लें और इसी के आधार पर स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट करें। 

  1. सही नॉलेज और सही कंपनी के स्टॉक  को देखें। 
  2. सही समय पर हिम्मत के साथ इन्वेस्ट करें। 
  3.  धैर्य के साथ शेयर को होल्ड करके रखें। 

अब हम आशा करते हैं कि आपको हमारा यह लेख  “शेयर मार्केट में इन्वेस्ट कैसे करें”  पसंद आया होगा और इस लेख से आपको शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट से संबंधित सभी  महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई होगी।